आयोजन

सत्य मार्ग पर चलने वाला अनंत काल तक पहचाना जाता है,पंडित तिवारी

इछावर,एमपी मीडिया पॉइंट

श्री राधेकृष्ण भक्त मंडल इछावर की ओर से श्री हनुमान मंदिर धर्मशाला पुराना बस स्टैंड इछावर में आयोजित श्रीमद्भागवत कथा के तीसरे दिन प.शैलेश तिवारी द्वारा ध्रुव कथा व प्रहलाद प्रसंग का वर्णन कर श्रद्धालुओं को निहाल किया। पंडित शैलेश तिवारी ने प्रहलाद प्रसंग का वर्णन करते हुए बताया राजा हिरणाकश्यप का प्रहलाद नाम का एक पुत्र था, जो हमेशा भगवान विष्णु की भक्ती करता था, परंतु राजा हिरणाकश्यप हमेशा उसे उसकी पूजा करने के लिए कहता, परंतु प्रहलाद भगत हमेशा भगवान विष्णु का ही नाम सिमरन करता। राजा हिरणाकश्यप द्वारा प्रहलाद भगत को एक कुएं में गिराया, परंतु वह फिर वापिस आ गया, तो एक बार उसे अग्नी में भी बिठा दिया, परंतु अगनी से भी वह भगवान विष्णु का सिमरन करता हुआ सही सलामत बाहर आ गया। एक बार राजा द्वारा महल के थंम को पूरी तरह गरम करवा कर उसे गले लगने के लिए कहा, पहले तो प्रहलाद भगत घबरा गया, परंतु थोड़ी देर बाद उसने देखा कि एक चींटी जा रही थी, तो उसने कहा कि हर जीव में भगवान विष्णु का निवास है, तो उसने उस थंम गले लगा लिया। इस उपरांत भगवान विष्णु ने नरसिंह का अवतार धारण कर राजा हिरणाकश्यप का वध किया। उन्होंने प्रहलाद भगत की कथा का वर्णन करते हुए कहा कि भगवान हमेशा अपने भक्तों की रक्षा करते है,जो व्यक्ति सच्चे मन से उनकी पूजा अर्चना करते है, उनकी हर परेशानी का समाधान वह खुद करते है। कल शुक्रवार को कथा में भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव मनाया जाएगा।

पंडित शैलेश तिवारी

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close