समस्या

सबसे ज्यादा मंडीदीप में उद्योग व फोरलेन निर्माण से बढ़ा हवा में प्रदूषण

प्रदूषण का स्तर वातावरण में जैसे जैसे बढ़ता है वैसे वैसे इंडेक्स में बढ़ोतरी होती है

भोपाल, एमपी मीडिया पॉइंट

राजधानी भोपाल से लगे औद्योगिक क्षेत्र मंडीदीप में हवा की सेहत ठीक नहीं है। यहां पिछले 10 दिनों से हवा की गुणवत्ता बताने वाला एयर क्वालिटी इंडेक्स 240 के ऊपर है। यह स्थिति मंडीदीप औद्योगिक क्षेत्र में चल रहे कारखानों से निकलने वाले प्रदूषित कण और ओबैदुल्लागंज से मंडीदीप के बीच चल रहे फोनलेन निर्माण से उड़ने वाली धूल के कारण बन रही है हालांकि शनिवार सुबह 9:00 बजे इंडेक्स 83 पर पहुंचा है मौसम में नमी के कारण इंडेक्स में गिरावट आई है। वहीं राजधानी भोपाल में एयर क्वालिटी इंडेक्स 100 से 140 के बीच है यह भी आदर्श स्थिति नहीं है लेकिन मंडीदीप की तुलना में भोपाल की हवा कुछ साफ है। केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की गाइडलाइन के अनुरूप एयर क्वालिटी इंडेक्स 50 तक या उससे नीचे रहने पर ही हवा की गुणवत्ता बेहतर मानी जाती है। प्रदूषण का स्तर वातावरण में जैसे जैसे बढ़ता है वैसे वैसे इंडेक्स में बढ़ोतरी होती है।
राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड में वरिष्ठ विज्ञानी रहे सेवानिवृत्त पीआर देव बताते हैं कि 12 महीने प्रदूषण का स्तर वातावरण में रहता है लेकिन मौसम के अनुरूप इसका स्तर कम ज्यादा होते रहता है। बारिश के दिनों में प्रदूषण का स्तर नहीं होता है क्योंकि बारिश की वजह से प्रदूषित तत्व और गैस वातावरण में फेल नहीं पाते हैं। गर्मी के दिनों में मौसम पूरी तरह शुष्क रहता है और यही प्रदूषित कण और गैसें शुष्क होकर वायु वातावरण में ऊपर की ओर फैल जाते हैं इसलिए निचली सतह पर इनका स्तर नगण्य होता है। प्रदूषण के लिए ठंड का नमी वाला सीजन अनुकूल होता है और इस सीजन में धूल प्रदूषित तत्व, गैसों के कारण यह सभी भारी होकर निचली सतह में रहते हैं जो स्वास्थ्य के लिए गंभीर खतरा पैदा करते हैं। राज्य प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों ने बताया कि मंडीदीप में वायु प्रदूषण की वजह फोरलेन निर्माण से निकलने वाली धूल और उद्योगों से निकलने वाला जहरीला धुआं है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close