आस्था

मध्यप्रदेश के सबसे बड़े एक दिवसीय मेले पर कोरोना का असर..

बारहखम्बा मेले पर कोरोना का असर,
पसरा है सड़कों पर सन्नाटा
_____________________
राजेश बनासिया, भाऊँखेड़ी
एमपी मीडिया पॉइंट

कोरोना महामारी ने पिछले आठ माह से जहाँ धार्मिक त्योहारो में जो खलल डाली है वह खलल आज उन तमाम श्रद्धालुओं को भारी पड़ रही है जिन्हें एक खास मेले बारहखम्बा का इंतजार रहता हैं, दीपावली के दूसरे दिन यानि आज , उन इंतजार करने वालो को मेला देखना नसीब नहीं होगा,क्योंकि प्रशासन ने कोरोना की रोकथाम के लिए इस बार मेले पर पूर्णरूप से प्रतिबंद लगा दिया,वही पशुपतिनाथ की पूजा अर्चना पर कोई प्रति बंध नही लगाया हैं। बाबा पशुपतिनाथ को दूध चढ़ा सकते हैं।इसके लिए प्रशासन ने मंदिर पर पुख्ता इंतजाम किए हैं।
वही बारहखम्बा मेला न लगने के सम्बंध में ग्राम नरसिंहखेड़ा के सुरेश वर्मा ने बताया की अबकी बार मेला नही लगने से उन व्यापारियों को बहुत नुकसान हुआ है जो सिर्फ बारहखम्बा मेला पर ही निर्भर रहते हैं
वही ग्राम झालकी के बुजुर्ग बाबूलाल वर्मा ने बताया कि अगर वाक़ई कोरोना बीमारी भयानक है तो फिर ये तमाम चुनावी सभा एवं रैलियों पर प्रशासन ने सख़्ती से रोक क्यों नही लगाई ? हर वर्ष बारहखम्बा मेले में अपनी दुकान लगाने वाले महेश शर्मा ने बताया कि अगर कोरोना बीमारी इतनी ही भयानक है तो फिर इतनी लापरवाही इसके प्रति क्यो बरती जा रही हैं। और पिछले आठ माह से त्योहारों के समय ही प्रशासन को कोरोना नजर आता हैं बाकी दिनों में क्यों नहीं ?
खेर इस समय बारहखम्बा में बाबा पशुपतिनाथ नाथ के मंदिर में श्रद्धालुओं की भीड़ बढ़ती जा रही है और बाबा का दूध से अभिषेक का क्रम बदस्तूर जारी हैं।
बतादें कि इछावर तहसील के देवपुरा मे लगने वाला बाराह खंबा मेला मध्यप्रदेश के सबसे बड़े एक दिवसीय मेले मे शुमार है। यहां लाखों की संख्या मे पशुपालक पहुंचते हैं और अपने पशुधन के सलामती की दुआ मांगते हुए देव महाराज का दुग्धाभिषेक करते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close