उत्तरप्रदेशहापुड़

छह जिलों का मोस्ट वॉन्टेड हापुड़ पहुंचा, पुलिस से बचने के लिए मुंबई में बेच रहा था सब्जी

हापुड़, संवाददाता (युद्धवीर सिसौदिया)

छह जिलों के मोस्ट वॉन्टेड और ढाई लाख के इनामी कुख्यात बदमाश आशु जाट आखिरकार मुंबई से हापुड़ पहुंच गया है। जिसे कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच रखा गया है। हापुड़ एसपी संजीव सुमन ने प्रेस कॉफ्रेंस करते हुए बताया कि ढ़ाई लाख का कुख्यात इनामी बदमाश आशु जाट हापुड़ में दो बीजेपी नेताओ और नोएडा के चर्चित गौरव चंदेल हत्याकांड में मुख्यारोपी था। वह लंबे समय से यूपी से फरार होकर मुंबई में भेष बदल कर फल व सब्जी बेचने का काम कर रहा था। दो दिन पहले ही हापुड पुलिस ने मुखबिर की सूचना पर आशु जाट की गिरफ्तारी के लिए मुंबई में डेरा डाल लिया था। फिलहाल, मुंबई पुलिस की मदद से ढाई लाख के इनामी बदमाश को गिरफ्तार कर लिया  गया है। पुलिस सूत्रों के मुताबिक देर रात जब पुलिस आशु जाट को मुम्बई से हापुड़ ला रही थी तो उसने रास्ते में टॉयलेट के बहाने  गाड़ी को रुकवाया और पुलिस कर्मी की पिस्टल छीनकर भागने की कोशिश की। लेकिन पुलिस की मुस्तेदी के चलते आशु जाट के भागने के मंसूबो पर पानी फेर दिया। वही, हापुड पुलिस आशु जाट को आज कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लेकर उससे पूछताछ करेगी।

आशु जाट के छोटे भाई भोलू जाट पर 45 मुकदमें दर्ज

आशु जाट के छोटे भाई भोलू जाट का भी अपराध जगत में बड़ा नाम है। वह भी आशु के साथ मिर्ची गैंग से जुड़ा हुआ है। आशु जाट के सगे छोटे भाई भोलू जाट पर करीब 45 से अधिक मुकदमे दर्ज है। वह गाज़ियाबाद की डासना जेल में है। छोटे भाई भोलू जाट के जेल जाने के बाद आशु मिर्ची गैंग का मुखिया  बन गया और आपराधिक वारदातों का अंजाम देने लगा। हापुड एसपी ने बताया कि 2008 में आशु ने सबसे पहली हत्या की थी और  2013 में हुए पहली बार जेल गया। साल  2019 में जेल से बाहर आने के बाद ताबड़तोड़ वारदातों को अंजाम दिया। मिर्ची गैंग के सरगना आशु जाट पर लूट,हत्या,अपहरण, सहित हापुड़ जिले में करीब 22 मुकदमें दर्ज हैं। जबकि अन्य जिलों में उसके ऊपर 62 से अधिक मुकदमें दर्ज हैं।

आंख में मिर्ची डालकर करते थे अपराध

मिर्ची गैंग का  सरगना आशु जाट का अपराध करने का तरीका थोड़ा अलग था। गैंग से जुड़े लोग वारदात के बाद पीड़ित की आंखों में मिर्च डालकर फरार हो जाते थे। जिसकी वजह से इस गैंग  का नाम मिर्ची गैंग पड़ गया। पुलिस ने बताया आशु जाट पकड़ा न जाए इसलिए नए नौजवान युवकों  को अपने गैंग में शामिल करता था। पुलिस का कहना है कि इस गैंग के 40 से अधिक सक्रिय बदमाशों को अब तक जेल भेजा जा चुका है जबकि 80 से ज्यादा गैग चलाने वाले सक्रिय सदस्य हैं। आशु जाट को गिरफ्तार करने पर हापुड् पुलिस की तारीफ हो रही है। यूपी के मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने हापुड़ पुलिस को एक लाख रुपए का नगद पुरस्कार देने का ऐलान किया है।

करोड़ों की संपत्ति का मालिक है आशु जाट

एसपी ने बताया कि आशु जाट ने अपराध की काली कमाई से वेस्ट यूपी के जिलों में करोड़ों रुपए की संपत्ति बनाई है। जिसका पूरा रिकार्ड खंगाला जा रहा है। पुलिस का दावा है कि उसकी सभी प्रोपर्टी को जब्त किया जाएगा।

 

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close