UNCATEGORIZEDसियासत

कांग्रेस पार्टी के प्रदेश संगठन एवं जिला इकाइयों का पुनर्गठन विश्वसनीय चेहरों को तवज्जो

राजनीतिक सफर पर नज़र

जयंत शाह

कह सकते हैं कि प्रदेश कांग्रेस मुखिया कमलनाथ जी की पारखी नजर,

सीहोर जिले से पार्टी के प्रति समर्पित एवं योग्यता को तवज्जो ।
—————-
चुनावी वर्ष में कांग्रेस पार्टी के पुनर्गठन के अंतर्गत सीहोर जिले से दो नेताओं राजकुमार पटेल एवं कैलाश परमार को मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी में क्रमाश: उपाध्यक्ष एवं महासचिव बनाया गया है एवं जिला अध्यक्ष पद पर पुनः डॉ बलबीर तोमर को रिपीट किया गया है ।

परिचय

राजकुमार पटेल
———————
भोपाल के प्रतिष्ठित मोतीलाल नेहरू विज्ञान महाविद्यालय केमिस्ट्री में प्रथम श्रेणी पास एवं महाविद्यालय छात्र संघ के अध्यक्ष रहे।
विरासत में परिवार से ही समाज सेवा एवं कांग्रेस पृष्ठभूमि के चलते मध्य प्रदेश एनएसयूआई के अध्यक्ष बने।
एनएसयूआई के अध्यक्ष रहते हुए स्वयं के संसाधनों से संपूर्ण मध्यप्रदेश का दौरा किया एवं छात्रों को कांग्रेस के पक्ष में और विचारधारा से जोड़ा परिणाम स्वरूप मध्य प्रदेश के अधिकांश महाविद्यालय के छात्रसंघ चुनावों में राजकुमार पटेल के नेतृत्व में एनएसयूआई ने विजय का परचम लहराया।
मध्यप्रदेश में जिस समय सुंदरलाल पटवा के मुख्यमंत्री रहते हुए भारतीय जनता पार्टी की सरकार थी उस समय राजकुमार पटेल ने सरकार के खिलाफ कई बड़े आंदोलन का सफल नेतृत्व किया एवं बुधनी में होने वाले उपचुनाव में पूरी पटवा सरकार के मंत्रियों को बुधनी की गलियों में घूमने के लिए मजबूर कर दिया। भाजपा सरकार द्वारा पूरी सरकारी मशीनरी चुनाव में झोंक देने के बावजूद एंन केन प्रकारेण केवल 500 मतों से अपने प्रत्याशी को जीता पाई। लेकिन क्षेत्र की जनता की सहानुभूति राजकुमार पटेल के साथ रही।
एवं बाद के चुनाव में राजकुमार पटेल बुधनी विधानसभा क्षेत्र से विधायक बने। उनकी योग्यता को देखते हुए मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने उन्हें शिक्षा मंत्री का महत्वपूर्ण दायित्व सोपां। मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह के महत्वपूर्ण एवं महत्वकांक्षी कार्यक्रम संपूर्ण साक्षरता अभियान मैं तत्कालीन शिक्षा मंत्री के रूप में राजकुमार पटेल की महत्वपूर्ण भूमिका रही।
राजकुमार पटेल की लोकप्रियता से भारतीय जनता पार्टी में इतना अधिक खोप था कि जब सुषमा स्वराज के सामने राजकुमार पटेल को लोकसभा का टिकट दिया गया तो षडयंत्र पूर्वक उनका नामांकन निरस्त करवाया गया। जिसे राजकुमार पटेल द्वारा अदालत में चुनौती देकर अपने आप को सही साबित करना पड़ा। लेकिन कर्तव्य पथ पर संघर्ष करते हुए अपने सिद्धांतों से नहीं डिगे।
पार्टी के प्रति समर्पण भाव से कार्य करते हुए पिछली कार्यकारिणी में भी महामंत्री के रूप में कार्य करते हुए वर्तमान पुनर्गठन में प्रदेश उपाध्यक्ष का महत्वपूर्ण दायित्व आपको मिला है।
राजकुमार पटेल मध्य प्रदेश कांग्रेस में
पिछड़ा वर्ग का बहुत बड़ा चेहरा है |
मुख्यमंत्री के गृह जिले में कांग्रेस की राजनीति करने वाले हर आयु वर्ग का व्यक्ति राजकुमार पटेल को आशा भरी दृष्टि से देखता है |

कैलाश परमार
—————–
अपने सोम्यय एवं मृदुभाषी स्वभाव के लिए पहचाने जाने वाले कैलाश परमार छात्र जीवन से ही राजनीति से जुड़े रहे। पढ़ाई के दौरान भोपाल में एमवीएम महाविद्यालय में छात्रसंघ अध्यक्ष रहे।
नगर पालिका अध्यक्ष का पद ऐसा दायित्व रहता है ना चाहने पर भी कहीं विवाद अवश्य हो जाते हैं परंतु कैलाश परमार ने जादुई व्यक्तित्व एवं समझदारी पूर्ण कार्यशैली से अपनी निर्विवाद छवि कायम रखी एवं तीन बार आष्टा नगर पालिका अध्यक्ष पद का दायित्व निर्वहन किया।
उनके अध्यक्षीय कार्यकाल में आष्टा नगर में अनेक विकास कार्य हुए। जिला कांग्रेस कमेटी सीहोर के अध्यक्ष रहते हुए कैलाश परमार का कार्यकाल उल्लेखनीय उपलब्धियों भरा रहा।
राजनीति के अतिरिक्त भी आष्टा नगर में होने वाले प्रत्येक सामाजिक एवं धार्मिक आयोजनों में कैलाश परमार का सक्रिय योगदान रहता है।
उनके लंबे राजनीतिक अनुभव का लाभ कांग्रेस पार्टी को अवश्य मिलेगा ।

डॉ बलबीर तोमर
———————-
मध्य प्रदेश कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष कमलनाथ जी के अत्यंत विश्वसनीय डॉ बलबीर तोमर छात्र जीवन से ही राजनीति में सक्रिय है।
निजी जीवन में एक सरल , सहज, सादगी पसंद, मननशील, एवं मृदुभाषी व्यक्तित्व के धनी राजनीतिक तौर पर सिद्धांतो से समझौता न करने वाले एवं मजबूत इरादों के धनी हैं।
एग्रीकल्चर कॉलेज से एमएससी एजी के बाद पीएचडी की उपाधि प्राप्त की।
राजनीति के साथ ही आध्यात्मिक चेतना एवं सामाजिक सरोकारों से जुड़े हुए तथा टेराकोटा मूर्तिकला मैं सिद्धहस्त कलाकार के रूप में आपकी एक विशेष पहचान है।
युवा कांग्रेस के जिला अध्यक्ष रहते हुए अपने संगठन क्षमता के दम पर युवक कांग्रेस राजनीति में अपनी विशेष पहचान स्थापित की।
जिला कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में अपनी सूझबूझ एवं सक्रियता से संगठन को जो मजबूती प्रदान की उसे देखते हुए प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कमलनाथ जी ने उन्हें भारतीय जनता पार्टी के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के गृह जिले में पुनः जिला कांग्रेस अध्यक्ष पद का महत्वपूर्ण दायित्व दिया है।
डॉ बलवीर तोमर के कुशल नेतृत्व मे
कांग्रेस पार्टी मजबूती के साथ कार्य करते हुए आगामी विधानसभा चुनाव में जिले में विजय का परचम लहरायेगी ऐसी आशा ही नहीं पूर्ण विश्वास है।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close