UNCATEGORIZED

आरक्षण और एट्रोसिटी एक्ट जैसे काले कानूनों के विरोध में आठ दिसंबर को सीहोर में और 8 जनवरी को भोपाल में महा आंदोलन

सीहोर,एमपी मीडिया पॉइंट
शिवराज राजपूत

पिछले कई दिनों से करणी सेना परिवार, समस्त राजपूत संगठन और सर्व समाज के द्वारा आरक्षण और एट्रोसिटी एक्ट जैसे काले कानूनों के विरोध आगामी 8 जनवरी को राजधानी भोपाल में होने वाले महा आंदोलन को करणी सैनिक जिला स्तर पर रणनीति बना रहे है। रविवार को करणी सैनिक ईश्वर सिंह ठाकुर सहित सभी पदाधिकारियों ने शहर के गणेश मंदिर, कुबेरेश्वरधाम, मनकामेश्वर महादेव मंदिर सहित पूरे जिले के प्रमुख मंदिरों में आमंत्रण पत्र भेंट कर महा आंदोलन को सफल बनाए जाने की अपील की है।
इस संबंध में जानकारी देते हुए करणी सैनिक श्री ठाकुर ने बताया कि जन आदोलन से पहले आगामी 8 दिसंबर को हम सबके मध्य जीवन सिंह शेरपुर के नेतृत्व में शहर के सोया चौपाल से भव्य रैली निकाली जाएगी। जो शहर के विभिन्न मार्गों से दस किलोमीटर दूरी तय कर कोतवाली चौराहे पर सभा के रूप में तब्दील होगी। इसको लेकर करणी सैनिकों के द्वारा सभी को आमंत्रित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि हमारी 21 सूत्रीय मांगों को लेकर सभी का सहयोग लिया जा रहा है। हमारी प्रमुख मांगे आर्थिक आधार पर आरक्षण की मांग, जातिगत आरक्षण की पुन: समीक्षा व एट्रोसिटी एक्ट के विरोध सहित 21 सूत्रीय मांगों को लेकर 8 जनवरी को भोपाल में करणी सेना महारैली एवंं जनआंदोलन किया जा रहा है, जिसकी तैयारियों को लेकर करणी सेना शहर सहित तहसीलों में बैठक कर जन आंदोलन को सफल बनाने का आव्हान किया जा रहा है। इस बैठक में परिवार के सभी प्रतिनिधियों के साथ हुई बैठक में शामिल हुये। करणी सेना सिर्फ राजपूत समाज की ही अकेले लड़ाई नहीं लड़ रही बल्कि सर्वसमाज के अधिकारों एवं विभिन्न मांगों को लेकर निरंतर संघर्ष कर रही है। करणी सेना आगामी 8 जनवरी को भोपाल में विधानसभा घेराव की तैयारी पूरी हो चुकी है। भोपाल में होने वाले महाआंदोलन के लिए आमंत्रण दे रहे हैं।
हमारी मांगे इस प्रकार है।

1. आरक्षण का आधार आर्थिक किया जावे, ताकि समाज के हर वर्ग के गरीबों को आरक्षण का लाभ मिल सके। एक बार आरक्षण मिलने पर दोबारा आरक्षण का लाभ नहीं दिया जावे।

2. एससी,एसटी एक्ट में बिना जाँच के गिरफ्तारी पर रोक लगे।

3. एससी,एसटी एक्ट की तर्ज पर सामान्य- पिछड़ा एक्ट बने जो सामान्य पिछड़ा वर्ग के हितों की रक्षा करे व कानूनी – सहायता प्रदान करे। ईडब्लूयएस आरक्षण में भूमि व मकान की बाध्यता समाप्त कर 8.00 लाख की वार्षिक आय को ही आधार मानकर।

4-आरक्षण का लाभ दिया जावे। सभी भर्तियों में ईडब्लूयएस के छात्रों को उम्र सीमा में छूट एवं छात्रवृत्ति भी प्रदान की जावे।

5. वर्तमान में प्रक्रियाधीन शिक्षक भर्ती वर्ष 2018 में प्रथम काउंसलिंग के पश्चात् शेष बचे हुए ईडब्लूयएस वर्ग के समस्त पदों को द्वितीय काउंसलिंग या शिक्षा विभाग की वर्तमान नियोजन प्रक्रिया में समस्त पदों के साथ ईडब्लूयएस वर्ग के पात्र अभ्यर्थियों से भरा जावे। ईडब्लूयएस के रिक्त पदों को इसी वर्ग से भरा जावे।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close