मध्यप्रदेशसीहोर

पानी ही पानी,  नाले बने नदी, तो खेत बने तालाब, दूसरे दौर की भारी वर्षा ने किया हाल-बेहाल, नागरिकों का जीना हुआ दुष्वार,

आपदा का दौर जारी..

पानी ही पानी,  नाली बनी नदी, तो खेत बने तालाब,
दूसरे दौर की भारी वर्षा ने किया हाल-बेहाल, नागरिकों का जीना हुआ दुष्वार,

चप्पे चप्पे पर पहुंच रहा प्रशासन,
लगातार हो रही वर्षा को दृष्टिगत रखते हुए कलेक्टर ने अधिकारी-कर्मचारियों को अलर्ट रहने के दिए निर्देश,

पुल-पुलिया, नदी-नाले पार नहीं करने की नागरिकों से अपील

सीहोर 22अगस्त,2022
एमपी मीडिया पॉइंट

जिले में लगातार बारिश जारी है। नर्मदा का जल स्तर वर्तमान में ख़तरे कि निशान से नीचे है। लेकिन बरगी डैम, तवा डैम, बारना डैम एवं कोलार डैम के गेट खुले है। इन बांधों की गेट खुले होने से शाम तक नर्मदा के जलस्तर में तेज़ी से बढ़ोतरी की संभावना है।

कलेक्टर चंद्र मोहन ठाकुर ने सभी तटवर्ती ग्रामों को अलर्ट एवं एसडीआरएफ़ की टीम शाहगंज, बुदनी, रेहटी, नसरूल्लागंज एवं गोपालपुर में तैनात रहने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने एनडीआरएफ़ की टीम को आवश्यकता पड़ने पर सीहोर से तत्काल रवाना होने के लिए तैयार रहने के निर्देश दिए हैं।

उन्होंने सभी पटवारी, ग्राम पंचायत सचिव, रोज़गार सहायक एवं कोटवार अपने ग्रामों में रहने एवं लगातार मुनादी कराने तथा किसी भी जल भराव, पुल पुलिया के ऊपर से पानी गुज़रने या बारिश के कारण अप्रिय स्थिति निर्मित होने पर तत्काल वरिष्ठ अधिकारियों को सूचना देने के निर्देश दिए हैं।

सुरक्षा की दृष्टि से यह मार्ग बंद किए गए

लगातार बारिश के कारण पुल-पुलिया, रपटों पर पानी आने के कारण बरखेड़ा हसन से देहरी मार्ग, सीहोर से सतरोनिया सेमरी दांगी, दोराहा मार्ग बंद किया गया है। कलेक्टर श्री ठाकुर ने सभी नागरिकों से अपील की है कि इन मार्गों से न जाए। उन्होंने जिले के सभी नागरिकों से अपील की है कि लगातार हो रही वर्षा के कारण जिन पुल, पुलियो, रपटों के ऊपर से पानी बह रहा हो, उन्हें पार नहीं करें। उन्होंने नागरिकों से यह भी अपील की है कि बहुत आवश्यक होने पर ही घर से बाहर निकले तथा उन मार्गों से नहीं जाएं जिन मार्गों की नदी नालों पर बने पुलों पर पानी होने के कारण सुरक्षा की दृष्टि से बंद किया गया है। आवश्यक होने पर आवागमन के लिए सुरक्षित मार्गों का उपयोग करें।
बतादें कि अनवरत वर्षा के कारण बरगी, बारना, तवा, कोलार डैम के गेट खोले दिये गए हैं।

जीवटता के साथ विद्युत विभाग मैदान में

भोपाल एवं आसपास के जिलों में हो रही अत्यधिक बारिश एवं तेज हवा ऑंधी के कारण लाईनों पर पेड़ों के गिरने, बिजली के खम्भों के टेड़े होने एवं गिरने के कारण बिजली आपूर्ति बाधित हुई है। कई सबस्टेशनों में पानी भर जाने के कारण फीडर बंद हैं जिससे बिजली आपूर्ति बाधित है। कंपनी का महकमा तेज बारिश एवं विषम परिस्थितियों में भी काम करते हुए शीघ्र विद्युत आपूर्ति बहाल करने के लिए प्रयासरत हैं। मप्र मध्य क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी ने कहा है कि
उपभोक्ताओं से आग्रह है कृपया धैर्य बनाये रखें। विद्युत आपूर्ति को शीघ्र ही सामान्य कर बहाल किया जा रहा है।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close