जम्मू कश्मीरमध्यप्रदेश

मध्यप्रदेश का लाल जम्मू में शहीद, छिंदवाड़ा जिले में शोक की लहर..

गृह ग्राम में होगा शहीद का अंतिम संस्कार

मध्यप्रदेश का लाल जम्मू में शहीद,
छिंदवाड़ा जिले में शोक की लहर..

छिंदवाड़ा, 17 जून: जम्मू में आतंकियों के ग्रेनेड हमले में मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा जिले का एक जवान शहीद हो गया। भारत यदुवंशी नाम का शहीद जवान भारतीय सेना की राष्ट्रीय राइफल 41 में तैनात था।

दुखद खबर को सुनकर शहीद के गांव में मातम छा गया। बताया जा रहा है कि शहीद का पार्थिव शरीर नागपुर आएगा, जहाँ से सेना की मौजूदगी में गृह गांव ले जाकर अंतिम संस्कार होगा।

जानकारी अनुसार जम्मू के दुर्गमूला सेक्टर में आतंकियों और सेना के बीच मुठभेड़ चल रही थी, जिसमें आतंकियों द्वारा ग्रेनेड से हमला किया जा रहा था। सेना के जवानों की तरफ से भी जबाबी कार्रवाई की गई जा रही थी लेकिन आतंकियों के ग्रेनेड हमले में मध्यप्रदेश का लाल भारत यदुवंशी शहीद हो गया। जानकारी के मुताबिक भारत अपनी टॉवर पोस्ट पर तैनात था। उसे कुछ आतंकियों की मूवमेंट नजर आई थी। ग्रेनेड हमले से घायल होने के बाद भारत यदुवंशी को उपचारार्थ नजदीकी फील्ड हॉस्पिटल ले जाया गया था, जहाँ करीब एक घंटे बाद उनकी मृत्यु हो गई।

भारत का छोटा भाई भी सेना में

जानकारी अनुसार शहीद भारत यदुवंशी मध्यप्रदेश के छिंदवाड़ा के रोहनकला शंकरखेड़ा का रहने वाला है। राष्ट्रीय राइफल 41 सिग्नल रेजीमेंट में सिग्नल मेन के रूप में पदस्थ यदुवंशी पिछले महीने 15 दिन की छुट्टी पर अपने पैतृक गांव आए थे, फिर 20 मई को उन्होंने वापस अपनी ड्यूटी ज्वाइन की थी। उनका 27 वर्षीय छोटा भाई नारद भी राष्ट्रीय राइफल 53 में तैनात है। वे जम्मू के पुलवामा में अपनी सेवाएं दे रहे हैं।

माँ का बिगाड़ा स्वास्थ्य, गृहग्राम में मातम

जवान भारत के शहीद होने की खबर से छिंदवाड़ा जिला शोक में डूब गया। गृह ग्राम में माँ को जब यह खबर लगी तो उनकी तबीयत बिगड़ गई। भारत की पत्नी उर्मिला का रो-रोकर बुरा हाल है। उनकी दो बेटी है। परिजनों के मुताबिक शहीद भारत का पार्थिव शरीर पहले नागपुर लाया जाएगा, फिर वहां से सम्मान के साथ सेना के जवान शव को गृह ग्राम पहुंचाएगे। जहाँ उनका पूरे सम्मान के साथ अंतिम संस्कार किया जाएगा।

Related Articles

error: Content is protected !!
Close