उत्तरप्रदेश

कानपुर (यूपी ): सांप्रदायिक हिंसा में करीब आधा दर्जन व्यक्ति घायल, स्थिति काबू में, जुमे की नमाज़ के बाद दोनों पक्ष हुए आमने-सामने

हिंसा

कानपुर में दो समुदाय के बीच भड़की हिंसा, करीब आधा दर्जन लोग घायल,
स्थिति नियंत्रण में…

कानपुर, एमपी मीडिया पॉइंट

हिंसा में दो समुदाय के लोगों के बीच पत्थरबाजी के साथ-साथ बमबाजी भी होने के समाचार हैं।
दरअसल, पैगंबर मोहम्मद साहब पर भाजपा प्रवक्ता नूपुर शर्मा की गई विवादित टिप्पणी के बाद शुक्रवार दोपहर नमाज के बाद नई सड़क पर प्रदर्शन के बाद जमकर बवाल हुआ।

बताया जा रहा है कि इस हिंसा में आधे दर्जन से अधिक लोग घायल हो गए हैं। इस हिंसा की सूचना पर डीएम और संयुक्त पुलिस आयुक्त समेत भारी फोर्स मौके पर पहुंचे और पैदल मार्च करते हुए लोगों को समझाने का प्रयास किया। फिलहाल स्थिति काबू में बतायी जा रही है। पुलिस ने 15 से अधिक लोगों को हिरासत में लिया है।

खबर के मुताबिक, जुमे की नमाज के बाद बाजार बंद कराने के लिए निकाले जा रहे प्रदर्शन के दौरान दो पक्ष आपस में भिड़ गए। इस दौरान हिंसा में कई राउंड फायरिंग हुई और ईंट-पत्थर भी चले।

मामला बेगमगंज थाना क्षेत्र के नई सड़क इलाके का है। जहां यतीमखाने के पास दोनों पक्ष टकरा गए। हिंसा पर काबू पाने के लिए पुलिस ने लाठी चार्ज का प्रयोग किया और आंसू गैस के गोले दागे। हिंसा के बाद पुलिस ने बयान जारी करते हुए कहा स्थिति को काबू कर लिया गया है। खास बात यह है कि आज प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ कानपुर देहात के दौरे पर हैं।

बता दें कि एक टीवी डिबेट में भाजपा की राष्ट्रीय प्रवक्ता नुपुर शर्मा ने कथित तौर पर पैगम्बर मोहम्मद पर आपत्तिजनक टिप्पणी की थी, जिससे मुस्लिम समुदाय की धार्मिक भावनाए आहत हुई हैं। इस मामले में बीजेपी नेता के खिलाफ देश के कुछ हिस्सों में एफआईआर भी दर्ज करवाई गई हैं।

(खबर मीडिया के हवाले से)

Related Articles

error: Content is protected !!
Close