सीहोर

गौशाला की अव्यवस्थाओं को लेकर युवाओं ने किया प्रदर्शन

इछावर जनपद की ग्राम पंचायत खैरी की राधा कृष्ण गौशाला में भूख व प्यास से निरंतर मर रही गाय

  शिवराजसिंह राजपूत
इछावर,एमपी मीडिया पॉइंट

गो संरक्षण की मुहिम के तहत ब्लाक के ग्राम खैरी में बनी गौशाला जिम्मेदारों की भयंकर लापरवाही की भेंट चढ़ रही है। जिसे लेकर स्थानीय युवाओं ने गौशाला के बाहर धरना प्रदर्शन किया तथा इछावर एसडीएम विष्णु प्रसाद यादव को भी गौशाला में हो रही अव्यवस्थाओं को लेकर ज्ञापन के माध्यम से अवगत कराया।

युवाओं का कहना है कि गौशाला संचालन समूह गौशाला की ओर बिल्कुल भी ध्यान नहीं दे रहा है जिसके चलते गौशाला में गायों के खाने के लिए भूसा भी नहीं है और ना ही स्वच्छ पानी की कोई उचित व्यवस्था है गौशाला में चारों ओर गंदगी का अंबार लगा हुआ है जिसके चलते गौशाला में निरंतर भूख और प्यास के कारण गौ माता दम तोड़ रही है। पिछले कुछ दिनों से तो गौशाला में ज्यादा ही संख्या में गायों की मृत्यु हो रही है। क्योंकि उनकी देखभाल करने वाला कोई नहीं है। आलम यह है कि ना तो गायों को टाइम पर भूसे की शंधि मिल पा रही है और ना ही पीने के लिए स्वच्छ जल, पानी की टंकियों में गंदगी का अंबार लगा हुआ है और चारों ओर गंदगी के कारण मच्छर व अन्य कीट पतंगों ने अपना डेरा गौशाला में जमा रखा है। इसलिए हम सभी गांव के युवाओं ने एकत्रित होकर इस समस्या का समाधान करने का निर्णय लिया है जिसके चलते हमने एसडीएम महोदय को भी गौशाला संचालन में हो रही अव्यवस्थाओं से अवगत कराया है। गौरतलब है कि शासन के आदेश अनुसार पशुओं को चारा पानी प्रतिदिन मानक के हिसाब से दिया जाना तय है लेकिन जिम्मेदारों की लापरवाही से यह सब संभव होता नहीं देखा जा रहा है सरकार द्वारा गौशाला का निर्माण बहुउद्देशीय दृष्टिकोण से किया गया था जिसमें कि ग्रामीण स्तर में रोजगार से लेकर किसानों की आय बढ़ाने तक के उद्देश्य शामिल थे परंतु वर्तमान स्थिति में गाय के जिंदा रहने पर भी सवालिया निशान है तो आगे की स्थिति का अनुमान आप स्वयं ही लगा सकते हैं।

दो दिनों तक गौशाला के अंदर ही मृत अवस्था में पड़ी रही गाय
गौशाला में अव्यवस्था का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि गौशाला के अंदर ही 2 दिन तक मृत अवस्था में एक गाय पड़ी रही। ग्रामवासी रोबिन पटेल, हेमंत पटेल, संदीप वर्मा, रमेश मालवीय ने बताया कि गौशाला के अंदर ही गाय निरंतर दम तोड़ रही है और उन्हें गौशाला से उठाने वाला भी कोई नहीं है। कई दिनों तक मृत गाय गौशाला में ही पड़ी रहती है जिससे कि कई संक्रामक बीमारियां फैलने का खतरा बना रहता है। जिम्मेदारों से कहने पर उत्तर प्राप्त होता है कि गौशाला हमसे तो ऐसी ही चल पाएगी आपको लगता है तो आप ही चला लो। गौशाला का संचालन समूह पूर्ण रूप से निष्क्रिय है जिसके चलते गौशाला अव्यवस्थाओं का अंबार है अगर जल्द से जल्द गौशाला समूह को नहीं बदला गया तो गौशाला गर्त में चली जाएगी। गौशाला का एक भी जिम्मेदार ठीक तरीके से अपना कार्य का निर्वाहन नहीं कर रहा है जिसके चलते गौशाला की स्थिति यह है कि निरंतर गाय भूख और प्यास के कारण दम तोड़ रही हैं।
ग्रामीण मनोज वर्मा ने बताया कि हमारा बहुत बड़ा दुर्भाग्य है कि जिस गाय के दूध को पी कर हम बड़े होते हैं। आज उसी गौ माता के लिए हम ठीक व्यवस्थाएं नहीं जुटा पा रहे हैं, और हमारी गौ माता भूख व  प्यास के कारण दम तोड़ रहे हैं। गौशाला में कई दिनों से ट्यूबवेल की मोटर खराब होने के कारण गायों को शुद्ध पेयजल भी मुहैया नहीं हो पा रहा है। और जिम्मेदार हाथ पर हाथ धरे बैठे हैं। हम कई बार गौशाला संचालन में हो रही अव्यवस्थाओं को लेकर तहसील के जिम्मेदारों को बता भी चुके हैं परंतु वहां से भी कोई हल नहीं निकला है इसीलिए हम सब स्थानीय युवाओं ने एकत्रित होकर व्यवस्थाएं दुरुस्त कराने को लेकर धरना प्रदर्शन किया है। ग्रामीण ने बताया कि गौशाला में बहुत ही मजबूत स्थिति में गाय निवास कर रही है। जो कि पंचायत के जिम्मेदारों की लापरवाही के चलते हैं प्यास से तड़प रहे हैं और कई गाय इसी के चलते दम भी तोड़ चुके हैं। प्रशासन से निवेदन है कि जल्द से जल्द मामला संज्ञान में लेकर गौशाला की व्यवस्थाओं को दुरुस्त करें।
——————————————-
मैंने मौके पर जाकर गौशाला की स्थिति का जायजा लिया है जल्दी ही गौशाला संचलन का समूह बदल दिया जाएगा। गौशालाओं में व्यवस्था दुरुस्त करने को लेकर सचिव एवं वर्तमान संचालन समूह को निर्देशित कर दिया गया है।
           आरडी पटेल
सीईओ जनपद पंचायत इछावर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close