UNCATEGORIZED

पंचायत सचिव पर ग्रामीणों ने लगाए भ्रष्टाचार के गंभीर आरोप,ग्रामीणों का कहना डकार गए लाखों रूपए…

मामला इछावर जनपद के ग्राम पंचायत गाजीखेड़ी का हैं..

इछावर,एमपी मीडिया पॉइंट

पंचायत सचिव द्वारा ग्राम पंचायत में भारी भ्रष्टाचार एवं योजनाओं का सही तरीके से क्रियान्वयन नहीं करना एवं पंचों का मानदेय भत्ता नहीं देना ग्राम सभा की बैठक नहीं करना और पंचायत में भारी भ्रष्टाचार करने सहित पंचायत में बड़े-बड़े भ्रष्टाचारो को मामलों को लेकर। ग्रामीण ने मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान सहित जिला पंचायत सीईओ जिला कलेक्टर को शिकायत की है।

मामला इछावर जनपद के ग्राम पंचायत गाजीखेड़ी का है जहां गाजी खेड़ी निवासी कुंवर जी वर्मा पिता मोहनलाल सहित ग्रामीणों ने ग्राम पंचायत पर भ्रष्टाचार के आरोप लगाए हैं। ग्रामीण कुँवर जी का कहना है कि हमारी ग्राम पंचायत में भारी भ्रष्टाचार सचिव द्वारा किया जा रहा है। पंचायत सचिव द्वारा भारी भ्रष्टाचार एवं योजनाओं का सही तरीके से क्रियान्वयन नही किये जाने व मासिक बैठक नहीं करने,पंचों का मानदेय भत्ता नही देने। ग्राम सभा की बैठक नहीं करना,वित्तीय मामलों में गोलमोल करने के आरोप लगाये हैं। ग्रामीण कुंवरजी वर्मा पिता मोहनलाल निवासी ग्राम गाजीखेड़ी ने पंचायत सचिव राजेंद्र विश्वकर्मा द्वारा भारी भ्रष्टाचार किया जा रहा है। इनके द्वारा शासन से प्राप्त 14 एवं 15 वित्त की राशि में मनमाने तरीके से बिल लगाकर राशि का दुरूपयोग किया जाता है । इनके द्वारा नियमानुसार टेंडर प्रक्रिया एवं ग्राम सभा के अनुमोदन के बिना ही राशि का व्यय किया जा रहा है शासन द्वारा मुरम,बोल्डर आदि के कार्यों में 14 एवं 15 वित्त की राशि का उपयोग नही करने का नियम है। परंतु इनके द्वारा मनचाहे बिल लगाकर नियम विरुद्ध पंचायत के खाते से राशि आहरण की जा रही है। इनके द्वारा मनरेगा योजना अंतर्गत हितग्राही एवं सामुदायिक कार्यों में भी भ्रष्टाचार कर राशि का गलत उपयोग किया गया है इन्होने कपिलधारा कूप निर्माण आदिवासी मोहल्ले में निर्माण करना बताया गया है परंतु वर्तमान में कूप का निर्माण नही है केंद्र सरकार के नियमानुसार 15 वित्त की राशि में 50 प्रतिशत अधोसंरचना एवं 25 प्रतिशत पानी एवं 25 प्रतिशत साफ सफाई पर व्यय किया जाना था परंतु इनके द्वारा उक्त राशि का उपयोग अन्य कार्यों में व्यय कर राशि खत्म कर दी है । ग्राम पंचायत में होने वाली बैठकों में ग्राम पंचायत के पंचों को आमंत्रित नही किया जाता है न ही उन्हें सूचना दी जाती है। इनके द्वारा मनमाने तरीके प्रस्ताव पारित कर कार्यों को किया जा रहा है। ग्राम पंचायत के कार्यों में गम्भीर वित्तीय अनियमितता की जाती है। निर्माण कार्यों में गुणवत्ता की भारी कमी है । जिनकी जाँच मौके पर की जा सकती है । प्रधानमंत्री आवास योजना में गड़बड़ी कर पात्र लोगों को । इसकी जॉच भी मौके पर जांच की जा सकती है । अपात्र लोगों को प्रधानमंत्री आवास प्रदान किये गये जांच कराई जा सकती है । ग्राम पंचायत का रिकार्ड पूर्ण नहीं है न ही रिकार्ड मौके पर उपलब्ध है । इनके द्वारा शासन की महत्वपूर्ण योजनाओं की जानकारी ग्रामवासियों को नहीं दी जाती है । मनरेगा योजना में अपने चहेतों के मस्टर भरकर राशि का आहरण गलत लोगों के खातों में की जा रही है । जिससे ग्रामीणजन पलायन करने पर मजबूर है । विगत दो वर्ष पूर्व पंच श्री मुकेश आ ० नंदलाल का निधन होने जाने से पंच का पद रिक्त हो गया इसकी सूचना थी। जिसकी पूर्ति भी इनके द्वारा आज दिनांक तक नहीं कराई गई है न ही वरिष्ठ कार्यालय दी गई है । कनेरिया रोड़ पर घीसीलाल के खेत पर पोखर का निर्माण करना बताया गया है परंतु मौके पर पोखर निर्मित नहीं है । नाडेप हरिजन एवं सपेरा मोहल्ला में निर्माण करना बताया परंतु मोके पर कोई निर्माण नही किया गया है । हरिओम के खेत के पास पोखर निर्माण होना बताया गया है । परंतु मौके पर निर्माण नही किया गया है । संबंल योजना में पात्र हितग्राहियों को अपात्र किया गया तथा अपात्रों को लाभ दिया जा रहा है । ऐसी बहुत सारी वित्तीय अनियमितता जनपद पंचपास इछावर के अधिकारियों कर्मचारियों के साथ साँठगाँउ कर पंचायत में पंचायत सचिव के द्वारा बरती जा रही है। ग्राम पंचायत सचिव राजेंद्र विश्वकर्मा ग्राम पंचायत गाजीखेड़ी जनपद पंचायत इछावर की सख्ती एवं वरिष्ठ अधिकारियों से जॉच कराकर पंचायत सचिव को बर्खास्त किया जाए। गौरतलब है कि ग्राम पंचायत गाजीखेड़ी मैं भ्रष्टाचार के कई मामले इससे पहले भी आ। जिसमें प्रधानमंत्री आवास योजना में कैसे मांगते हुए का ऑडियो तक वायरल होने के बाद भी अब तक कोई कार्यवाही नहीं हुई है।

___________________________________

मामले की जांच करवाता हूं दोषी पाए जाने पर कार्यवाही की जाएगी।

राजधर पटेल
सीईओ जनपद पंचायत इछावर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close