UNCATEGORIZED

जनजातीय क्षेत्र के बच्चों के साथ क्रिकेट खेले सचिन

सीहोर,एमपी मीडिया पॉइंट

क्रिकेट के मैदान पर सचिन तेंदुलकर बाल को बाउंड्री के पार पहुंचाने के लिए सबसे दूर के गैप्स को चुनना पसंद करते थे। आज भी उनकी वो आदत बदली नहीं है, उन्होंने मदद के लिए उन बच्चों को चुना जो देश के दूर-दराज के इलाकों में हैं और भौगोलिक बाधाओं के कारण उनकी ज़रूरतें पूरी नहीं हो पा रही है। लिटिल मास्टर को अपने प्रशंसकों का प्यार और स्नेह मिलना आज भी जारी है और यह अत्यंत स्वाभाविक है क्योंकि मैदान के बाहर भी उनका आचरण मैदान पर उनके कारनामों के जितना ही प्रशंसनीय और प्रेरक है। यही कारण है कि सचिन ने सीहोर जिले में गोद लिए पांच सेवा कुटीर में से ग्राम सेवनिया में बने सेवा कुटीर का अवलोकन किया।

सचिन ने जहां बच्चों से कहा बेहतर शिक्षा ग्रहण करो तुम्हारे ड्रीम पूरे करने में हर संभव मदद करूंगा। करीब अाधे घंटे बच्चों से बात कर शिक्षा, स्वास्थ्य और भोजन सहित उनके द्वारा की गई चित्रकारी की जानकारी लेकर प्रशन्नता जारी की। इस मौके पर उन्होंने रतिराम की बाल पर जब शाट लगाया तो वह बोला क्रिकेट के भगवान को गेंद कर मेरा हर सपना पूरा हो गया। वहीं, जब सचिन तेंदुलकर ग्राम सेवनिया में पहुंचे तो मुख्यमंत्री शिवराज ने उनसे बात की।

किकेट के भगवान कहे जाने वाले दिग्गज खिलाड़ी सचिन तेंदुलकर ने 27 सितंबर 2017 में सीहोर जिले के पांच सेवा कुटीर के करीब 560 आदिवासी बच्चों के भाग्य निर्माण का जिम्मा उठाया। उन्होंने बच्चों की सहायता के लिए एक गैर सरकारी संगठन के साथ हाथ मिलाया है। तेंदुलकर ने सचिन फाउंडेशन के साथ साझेदारी की है, जिसमें मध्य प्रदेश के सीहोर जिले के दूरदराज के गांवों में सेवा कुटीर बनाए हैं। इन्हीं में से एक सेवा कुटीर सेवनिया में मंगलवार को सचिन पहुंचकर बच्चों से मिले और उनका हाल जानकर उन्हें बेहतर सुविधा मुहैया कराने के लिए भी और अधिक प्रयास करने का भरोसा दिया। उन्होंने आज का दिन इसलिए भी चुना क्योंकि इसी दिन 2013 में उन्‍होंंने क्रिकेट से संन्यास लिया था।

इस मौके पर बारेला समाज के आदिवासी बच्चों के बीच पहुंचकर सचिन तेंदुलकर क्रिकेट खेले और इन बच्चों के बीच में करीब आधे घंटे रुककर इनकी पढ़ाई लिखाई, भोजन, पाठ्य सामग्री, स्वास्थ्य आदि की जानकारी ली, वहीं बच्चों द्वारा की गई चित्रकारी को देखकर उनके सपनों के बारे में पूछा और कहा कि अच्छे से पढ़ाई करो आपके सपने तक पहुंचने में हरसंभव मदद की जाएगी।

वहीं सचिन ने बच्चों से पूछा कि खेल को लेकर आप क्या सोचते हैं तो बच्चों ने बताया कि क्रिकेट हमारा पसंदीदा खेल है, जिसके बाद पिच पर बच्चों की बाल पर जमकर शाट लगाए और बच्चों ने खूब कैच लपके, वहीं जब सचिन ने बल्ले बाजी की तो वहां मौजूद लोग सचिन..सचिन के नारे लगाकर उत्साहवर्धन किया।

सीएम मुख्यमंत्री ने की सचिन से चर्चा

सचिन तेंदुलकर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के बुधनी विधानसभा के सेवनिया गांव पहुंचे, तो फोन पर मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सचिन से पांच मिनट बात की और बच्चों के उत्थान के लिए किए जा रहे कार्य को लेकर उन्हें बधाई दी। इस मौके पर सचिन की एक झलक पाने के लिए लोग बेताब दिखे। जैसे ही उनके आने की जानकारी मिली तो बड़ी संख्या में आसपास के लोग सेवनिया गांव पहुंच गए, जहां वह फोटो खींचने और बात करने बेताब दिखे, लेकिन सुरक्षा व्यवस्था दुरुस्त होने के चलते उनका यह ख्वाब पूरा नहीं हो सका, लेकिन आसपास मौजूद लोग सचिन के साथ सेल्फी लेते रहे।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close