UNCATEGORIZED

ग्राम पंचायत में भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ा विकास

मामला इछावर जनपद के ग्राम पंचायत बावड़िया गोसाई का हैं...

इछावर,एमपी मीडिया पॉइंट

सीहोर जिले की इछावर की ग्राम पंचायतों में विकास कार्यों में मनमाने तरीके से अनियमितता और अनुपयोगी कार्य कराके जहां सरकारी बजट को चूना लगाया जा रहा है। वहीं पंचायत प्रतिनिधि हर काम में कमाई के चक्कर में कायदे कानून ताक पर रखकर कायदे कानून के पालन से बेपरवाह हैं। उन्हें न जांच की चिंता है। न अधिकारियों का डर है।

ग्राम पंचायतों में सरंपच,सचिव और ग्राम रोजगार सहायक की तिकड़ी का बेलगाम राज चल रहा है। अब जबकि पंचायतों का कार्यकाल पूरा हो चुका है और कोविड के कारण चुनाव नहीं हो पा रहे हैं। ऐसे में इस तिकड़ी को मनमानी करने की खुली छूट मिल गई है। पहले भी ऐसे तमाम काम कराए गए। जिनमें कमाई का रास्ता नजर आया। यहां तक कि कई अनुपयोगी काम भी करा दिए गए हैं, ऐसे तमाम निर्माण कार्य कराके जिम्मेदारों ने अपना-अपना हिस्सा तो ले लिया पर ये निर्माण कार्य अनुपयोगी पड़े-पड़े बर्बादी की कगार पर हैं। मनरेगा के काम मशीनों से कराके फर्जी मस्टर भरे जा चुके हैं। शिकायतों को अनदेखा करके जिम्मेदार मौन बने हैं। इसे लेकर लोगों में नाराजगी है और कुछ मामलों में अधिकारी दिखावे के लिए कार्रवाई करके अपनी कमी छिपाने में जुटे हैं।

मामला इछावर जनपद के ग्राम पंचायत बावड़िया गोसाई का हैं…

बन रही गौशाला में भ्रष्टाचार

इछावर जनपद के अंतर्गत ग्राम पंचायत बावड़िया गोसाई सरपंच-सचिव की मनमानी से भ्रष्टाचार में किसी से कम नहीं है। यहां 1 वर्ष पहले गौशाला में काम चला था। लेकिन कार्य अब तक पूरा नहीं हो पाया ग्रामीण लक्ष्मीनारायण पटेल ने बताया कि गौशाला में भारी भ्रष्टाचार ग्राम पंचायत द्वारा किया गया है। या सरपंच सचिव द्वारा गौशाला में काम नहीं किया और उसके पैसे निकाल लिए हैं।

पूरे स्थल गंदगी से पटा पड़ा है। इतना ही नहीं गांव के अंदर प्रवेश करते ही रोड के साइड में गोबर के ढेर लगे हुए हैं। ऐसा लगता है कि यहां कभी सफाई ही नही होती है।

प्राचीन गुरु आश्रम की भी निकाली राशी

ग्रामीणों का कहना है कि ग्राम में प्रसिद्ध गुरु आश्रम में जिसमें विधायक निधि से 2 लाख रुपये आए थे। ग्रामीण लक्ष्मीनारायण ने बताया कि राशि 2 लाख भी सरपंच द्वारा निकाली गई है। लेकिन प्राचीन स्थल पर अब तक कोई काम नहीं हुआ है।

सीसी रोड में बड़ा घोटाले

सीसी रोड में बड़ा घोटाला किया गया है। ग्रामीण लक्ष्मी नारायण पटेल ने बताया कि ग्राम पंचायत में सरपंच सचिव द्वारा सीसी रोड के निर्माण में जमकर भ्रष्टाचार किया गया है। यहां भी सरपंच सचिव की तिकड़ी ने जमकर मनमानी करके अपने हाथ बनाए हैं। ग्रामीण ने बताया कि सीसी रोड कपिल के मकान से तो हीरालाल के मकान तक 5 लाख 36 हजार आवंटन हुआ था। जिसमे अलग से राशि निकाली गई है। एक जनपद निधि से ₹200000 एक निधि और जिसमें एक लाख 18 हजार इसी रोड के नाम पर निकाले गए। ग्रामीण लक्ष्मीनारायण पटेल का कहना है कि इस मामले में उच्च अधिकारी जांच भी कर सकते हैं।

वही दूसरा रोड बाबूलाल के मकान से तो मेन रोड तक बना था। जिसमें 2 लाख 66 हजार की लागत से बनना था लेकिन लेकिन सीसी रोड को कम बनाते हुए उसकी राशि भी हरन कर ली गई। लेकिन जिम्मेदार अधिकारी का इस और कोई ध्यान नही हैं।

पंचायत में मनरेगा व निर्माण कार्य में मनमानी

ग्राम पंचायत बावडीया गोसाई में मनरेगा एवं निर्माण कार्य में मनमानी करने में यहां के सरपंच, सचि की तिकड़ी किसी से पीछे नही है। पंचायत में गांव के मजदूरों को काम न देकर मशीन से काम कराके कार्य में फर्जी मास्टर रोल भरकर राशि निकालने लेते है।
लक्ष्मीनारायण पटेल ने बताया कि 1 वर्ष पहले गौशाला के पास मनरेगा द्वारा मजदूरों से तालाब बनना था। जिसमें रात के समय मशीन चल रही थी जिसको मेरे द्वारा शिकायत कर उसे रातमरात बंद करवाई गई। ग्रामीण लक्ष्मी नारायण पटेल सहित ग्रामीणों का कहना है कि यदि ग्राम पंचायत बावडीया गोसाई की जांच उच्च अधिकारियों द्वारा कराई जाए तो सभी योजनाओं में भारी भ्रष्टाचार निकलेगा।

आपके द्वारा मामला संज्ञान में आया है। ग्राम पंचायत में मनमानी गुणवत्ताहीन व अनुपयोगी कार्य कराके भ्रष्टाचारी आदि की जांच बारीकी से कराके कार्रवाई की जाएगी। यदि मामले में दोषी पाए जाते हैं तो दोषियों पर कार्रवाई भी की जाएगी।

     हर्षसिंह
सीईओ जिला पंचायत सीहोर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close