साहित्य का सोपान

10 दिवसीय गणेश महोत्सव के सातवें दिन आज हम चलेगें प्रकृति की गोद में विराजित भगवान गणेश के दर्शनार्थ..

भारतवर्ष के पूर्वोत्तर में रमणीय पर्यटन स्थल सिक्किम..

सिक्किम की राजधानी गंगटोक स्थित
गणेश टोक..

जयंत शाह सीहोर

गंगटोक शहर से 7 किलोमीटर दूर नाथूला मार्ग पर छोटी सी पहाड़ी पर स्थित प्रथम पूज्य भगवान गणेश जी का छोटा परंतु सुंदर मंदिर स्थापित है। पहाड़ एवं हरियाली के बीच ठंडी हवा के झोंके और बारिश की बूंदों के चलते यहां रूमानी सा एहसास चारों तरफ बिखरा हुआ रहता है।

पार्किंग के पास सिक्किम शैली में निर्मित सुंदर प्रवेश द्वार से मंदिर तक जाने का मार्ग है। द्वार के पास से कुछ सीढ़ियां चढ़कर भगवान गणेश के मंदिर तक पहुंच जाते हैं। यह मंदिर अपनी सुंदरता और उत्कृष्ट स्थान के लिए प्रसिद्ध है। बौद्ध धर्म के अनुयायियों के स्थान पर बनाया मंदिर गणेश भक्तों के लिए आस्था का केंद्र है। यहीं मंदिर के परिक्रमा के रूप में बनी हुई षटकोणीय बालकनी से कंचनजंगा पहाड़ियों का विहंगम दृश्य देख सकते हैं। गणेश टोंक का मनोरम दृश्य बर्फ से ढके पहाड़ों का मनोरम नजारा प्रस्तुत करता है । सीढियों पर बंधे हुए रंगीन झंडे इसकी सुंदरता को चार चांद लगा देते हैं। पूर्वोत्तर की सुरम्य वादियों मे विराजित चमत्कारिक भगवान गणेश की कृपा सब पर बनी रहे।
जय हो।

जयंत शाह सीहोर

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close