धर्मसीहोर

जब गमगीन हो गए गजानन…….-जयंत शाह

सीहोर जिले के आष्टा में विराजित बाल रुपी गजानन...

जयंत शाह,सीहोर

संपूर्ण भारत वर्ष में पूर्ण श्रद्धा भक्ति के साथ और धूमधाम से 10 दिवसीय गणेश उत्सव मनाया जा रहे हैं। सभी आस्थावान व्यक्ति यथाशक्ति प्रथम पूज्य श्री विनायक के समक्ष में अपनी आस्था व्यक्त कर रहे हैं।
यहा ये बता देना उचित समझता हूँ कि मीडिया पॉइंट का यह प्रयास है। शब्दाअभिषेक द्वारा अपने भाव भगवान गणेश के चरणों में व्यक्त करें।

आज हम चलेंगे सीहोर जिले के आष्टा मुख्यालय,
आस्था की नगरी आष्टा में जहां है मुख्य बड़ा बाजार स्थित प्राचीन बाल रूप गणेश मंदिर। आष्टा नगर के मध्य में मुख्य बाजार में भगवान गजानंद बाल रूप में विराजमान है। नगर एवं आसपास के ग्रामीण क्षेत्रों के श्रद्धालुओं के लिए श्रद्धा का केंद्र यह गणेश मंदिर लगभग 250 वर्ष प्राचीन है।

मंदिर परिसर में ही श्री राम दरबार एवं श्री हनुमान जी की मनोहर प्रतिमाएं विराजमान है।
मंदिर के अंदर नीचे की ओर एक तलघर भी है। जिसमें भगवान शंकर के दो शिवलिंग एक साथ विराजमान है जो श्रद्धालुओं को बरबस अपनी ओर आकर्षित करते है। तलघर को मनकामेश्वर गुफा के नाम से जाना जाता है यहीं पर श्रीयंत्र भी स्थापित है।

गजानन मंदिर से जुड़ी हुई मार्मिक कहानी :

मंदिर से जुड़ी हुई मार्मिक कहानी भी बुजुर्ग लोग सुनाते हैं। पुराने समय में बाल रूप भगवान गणेश के अनन्य भक्त नथमल जी अग्रवाल जो लगातार उनकी सेवा में रहते थे हरिद्वार तीर्थ यात्रा पर गए हुए थे। उस दौरान बाल रूप गणेश की प्रतिमा से लगातार अश्रु झरते रहे। श्रद्धालु पहले तो इस घटना से अचंभित हुए बाद में सेठ नथमल जी अग्रवाल की हरिद्वार में मृत्यु का समाचार मिलने पर उनकी भगवान के प्रति अटल आस्था एवं सेवा भावना से इस घटना को जोड़ा जाता है।  आष्टा के पत्रकार संजय जैन बताते हैं कि सेठ नथमल जी अग्रवाल की चौथे नंबर की पुत्री चौथी बाई ने बाद के वर्षों में सन् 1946 मे मंदिर के कार्य संचालन में आमदनी एकत्र हो इसलिए दुकानों का निर्माण करवाया। यह दुकान है आज भी मंदिर की आमदनी का स्त्रोत होने के साथ मंदिर की धरोहर है।

आष्टा नगर के मध्य में विराजित बाल रूप श्री गजानन का आशीर्वाद सभी पर बना रहे।

जयंत शाह , सीहोर (मध्यप्रदेश)

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close