साहित्य का सोपान

कलमबंद धरना आंदोलन…

दिनेश शर्मा
आष्टा,एमपी मीडिया पॉइंट

पटवारियों की अनिश्चित कालीन हड़ताल जारी

अपनी 3 सूत्रीय मांगों को लेकर पिछले 10 अगस्त से पूरे प्रदेश के लगभग 19000 हजार पटवारी कलम बन्द धरना आंदोलन कर रहे है। 45 दिन के क्रमिक आंदोलन के बाद ब मजबूरी प्रदेश के पटवारियों को यह कदम उठाना पड़ा ,आष्टा अनुविभाग के लगभग 75 पटवारी भी इस आंदोलन का हिस्सा बनकर पिछले 10 दिनों तहसील कार्यालय में टेंट लगाकर कलमबंद हड़ताल पर बैठे है। पटवारियों की इस हड़ताल से राजस्व का किसानों से सम्बंधित काम प्रभावित हो रहा है। किसान तहसील कार्यालय के चक्कर काट रहा है। और बगेर पटवारियों के किसानों की समस्याओं को कोई भी हल नही कर पा रहा है।
वही पटवारियों की कलमबंद हड़ताल के बावजूद भी सरकार के माथे पर जरा भी जु नही रेंग रही है। इधर किसानों की खरीब की फसल सोयाबीन में बहुत ज्यादा बांझपन होने की शिकायत मिल रही है। अब गांवों में पटवारी की जगह कोन जाए जो किसानों की फसलों का सही सर्वे कर सही जानकारी पूर्ण रूप से देवे। ऐसे में पटवारियों की यह हड़ताल किसानों के लिए बहुत भारी साबित हो रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close