सीहोर

पहले से ही 30 एकड़ शासकीय भूमि पर कब्जा करने वालों ने नहीं छोड़ा खेल का मैदान खेल मैदान पर कब्जा कर उगा ली मक्का की फसल

सीहोर,एमपी मीडिया पॉइंट

प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान एक तरफ तो भूमाफियाओं को लेकर विशेष अभियान चला रहे है, वहीं उनके गृह जिले और पूर्व राजस्व मंत्री करण सिंह के क्षेत्र में खेल के मैदान पर भूमाफिया खेती कर रहे है, जिस कारण बच्चों को खेल का मैदान उपलब्ध न होने से उनकी प्रतिभा दब रही है।

ईश्वरसिंह चौहान उप सरपंच ग्राम पंचायत धबोटी

जिसकी शिकायत कलेक्टर, एसडीएम,जिला पंचायत सीईओ और तहसीलदार से की गई है। क्षेत्रवासियों का कहना है कि ग्राम धबोटी के लोगों ने पहले से ही करीब तीस एकड़ शासकीय भूमि पर कब्जा कर रखा है, लेकिन इसको बाद भी इन्होंने पंचायत द्वारा दो लाख रुपए से विकसित किए खेल मैदान पर कब्जा कर प्रशासन और सरकार को चुनौती दे दी है। कब्जा करने वालों पर राजनैतिक संरक्षण होने के कारण कार्रवाई के नाम पर अब तक कुछ भी नहीं हो सका है। शिकायत करने वालों का कहना है कि इस संबंध में पिछले तीन माह से शिकायत कर रहे है। लेकिन प्रशासन के कानों में जूं तक रही रेंगी है।
इस संबंध में ग्राम पंचायत धबोटी के उप सरपंच ईश्वर सिंह ठाकुर ने बताया कि सर्वे नंबर 459/1/2 पर खेल मैदान बनाने का प्रस्ताव सर्व सम्मति से पारित किया गया था, इस प्रस्ताव के अंतर्गत शासकीय भूमि पर खेल का मैदान का कार्य लगभग पूर्ण किया जा चुका था, लेकिन खेल मैदान पर ग्राम के ही राजेश वर्मा पुत्र रामप्रसाद, सुरेश पुत्र लक्ष्मीनारायण एवं अरविन्द पुत्र चंदर सिंह द्वारा बने हुए खेल के मैदान को तोड़कर ट्रैक्टर चलाकर खेल के मैदान को खेत के रूप में तब्दील किया जा रहा है। जब उनको खेल के मैदान पर ऐसा कृत्य करने से मना किया तो वह लोग अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए धमकी देने लगे कि वह लोग खेल के मैदान को खेत के लिए तैयार का बोवनी कर फसल बोंयेगे। पंचायत द्वारा दी गई हिदायत के उपरांत भी खेल के मैदान को पूरी तरह से क्षतिग्रस्त कर दिया गया है। जिससे शासन को करीब एक लाख बीस हजार रुपए की राशि की क्षति पहुंची है जो इन लोगों से प्राप्त करने का शासन अधिकारी है। इसके अलावा उपरोक्त लोगों द्वारा पूर्व में भी शासकीय भूमि पर अवैध रूप से अतिक्रमण किया गया था, जिस पर तहसीलदार द्वारा अर्थदंड से दंडित करते हुए भूमि से बेदखली के आदेश दिए गए थे, तब उक्त लोगों ने अपना कब्जा छोड़ दिया था, किन्तु अब फिर से शासकीय भूमि पर अतिक्रमण करने को उतारू है। ग्रामीणों का कहना है कि अतिक्रमण करने वालों पर शासन तत्काल कार्रवाई करे और खेल के मैदान को मुक्त करवाए। ज्ञापन देने वालों में ईश्वर सिंह, देव सिंह, अंकित परमार, पप्पू यादव, महेंद्र ठाकुर, घनश्याम मेवाड़ा, हुकुम सिंह, राकेश राय, रवि विश्वकर्मा आदि शामिल है। राजनैतिक संरक्षण में कब्जा करते दबंग प्रशासन और सरकार कुछ नहीं समझने वाले दबंग राजनैतिक संरक्षण में कब्जा करते हुए आ रहे है। शासकीय खेल मैदान पर अवैध रूप से कब्जा करने व मैदान को क्षति पहुंचाने पर पंचायत द्वारा पूरे मामले की जानकारी सीहोर तहसीलदार को दी गई थी, उनके द्वारा पटवारी से जांच के बाद शासकीय भूमि से बेदखली के आदेश एवं अर्थदंड से सभी अतिक्रमणकारियों से अतिक्रमण को मुक्त कराया था, किन्तु इन लोगों ने मक्का आदि की फसल की बोवनी कर एक बार फिर से कब्जा कर लिया है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close