हादसा

सीधी में नहर में डूबी बस से निकले 40 शव, अब बहे लोगों की तलाश शुरू

सीधी,एमपी मीडिया पॉइंट

मध्य प्रदेश के सीधी में रामपुर नैकिन थाना इलाके में मंगलवार सुबह 7:30 बजे एक बस 30 फीट गहरी नहर में जा गिरी। बस को क्रेन से बाहर निकाला गया, इसमें से 40 शव निकालकर पोस्टमार्टम के लिए रामपुर सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र भेजा गया है। इनमें 21 पुरुष, 18 महिलाएं और एक बच्चा शामिल हैं। अब बहे लोगों की तलाश शुरू की गई है। संजय गांधी कॉलेज के सेवानिवृत्त प्रोफेसर हीरालाल शर्मा अपने व्यक्तिगत काम से सतना जा रहे थे, जिनकी मौत होने की भी खबर है। आइजी उमेश जोगा ने यह जानकारी दी है। हादसे के तुरंत बाद तैरकर बाहर आ रहे 7 लोगों को ग्रामीणों ने बचा लिया था। सरकार ने मृतकों के परिजनों को 5 लाख रुपए के मुआवजे का ऐलान किया है। उधर पीएम रिलीफ फंड से मृतकों के परिजनों को 2-2 लाख दिए जाएंगे व घायलों को 50 हजार रुपए।

नहर में समा गई थी पूरी बस

नहर इतनी गहरी है कि बस पूरी तरह उसमें डूब गई है, गोताखोरों और पुलिस प्रशासन ने बड़ी मशक्कत के बाद उसे पानी में खोज निकाला, क्रेन के जरिए बस को बाहर निकाला। बताया गया है कि बस में बघवार, चोरगढ़ी समेत आसपास के भी यात्री सवार थे। बस हादसे को लेकर सीएम शिवराज सिंह चौहान ने सीधी कलेक्टर से बात की है। सीएम ने आज भोपाल में होने वाली प्रधानमंत्री आवास योजना के गृहप्रवेशम कार्यक्रम को स्थगित कर दिया है। दो मंत्री तुलसीराम पटेल और रामखेलावन पटेल घटनास्थल के लिए रवाना हो गए। जानकारी के मुताबिक बस सीधी से सतना जा रही थी, साइड लेने के दौरान वह सीधे सड़क किनारे नहर में जा गिरी। घटना के बाद पास के ग्रामीण और अन्य लोग बस में फंसे लोगों को बाहर निकालने में जुटे। मौके पर बड़ी संख्या में ग्रामीण इकट्ठे हो गए हैं। घटना की जानकारी लगते ही बस में सवार लोगों के स्वजन भी मौके पर पहुंच रहे हैं, मौके पर कोहराम मचा हुआ है। बताया जा रहा है कि बस छुहिया घाटी में दो दिन से लगे जाम की वजह से अपने तय रूट से ना जाकर इस मार्ग से जा रही थी। यह भी बताया जा रहा है कि सुबह के समय बस आमतौर पर खाली रहती है, लेकिन आज परीक्षा होने की वजह से विद्यार्थी इसी बस में सवार होकर सीधी से सतना जा रह थे।

जबलनाध परिहार की बस

जानकारी अनुसार बस जबलानाथ परिहार ट्रैवल्स सिजहटा की है। जिसका नंबर एमपी 19 पी 1883 है। बस के मालिक कमलेश्वर सिंह हैं। बस का फिटनेस 2 मई 2021 तक है जिसका परमिट परिवहन विभाग से 12 मई 2025 तक के लिए जारी किया गया है। इस बस में सीधी बस स्टैंड से 38 टिकट बुक की गई थी। जो कि 80 किलोमीटर सफर तय कर हादसे का शिकार हो गई। घटना स्थल पर रीवा जोन आईजी उमेश जोगा, डीआईजी अनिल सिंह कुशवाह, एसपी सीधी पंकज कुमावत, एसपी रीवा राकेश सिंह सहित भारी पुलिस बल और कलेक्टर सीधी सहित प्रशासनिक अमला मौके पर मौजूद है। सतना से भी 13 सदस्यीय होमगार्ड व एसडीआरएफ की टीम मौके पर पहुंची।

सीएम ने कहा- मैं अधिकारियों के संपर्क में हूं

सीएम शिवराज सिंह चौहान ने ट्वीट कर कहा- ‘सीधी से सतना जा रही बस के नहर में गिरने से हुए हादसे में कई अनमोल जिंदगियों के काल कवलित होने के समाचार से बहुत दु:ख हुआ। ईश्वर से दिवंगत आत्माओं को अपने श्री चरणों में स्थान देने और लापता लोगों के सुरक्षित होने की प्रार्थना करता हूं। मैंने सीधी कलेक्टर से दुर्घटना के मामले में बात कर रेस्क्यू ऑपरेशन तेज करने के निर्देश दिए हैं। नहर के जलस्तर स्तर को कम करने के लिए बाणसागर की ओर से आने वाले पानी को भी रोक दिया गया है। मौके पर एसडीआरएफ और प्रशासन की टीम मौजूद है। मैं सतत अधिकारियों के संपर्क में हूं।’

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

error: Content is protected !!
Close